cells (कोशिका) kya hai | कोशिका क्या है | सेल्स 2 प्रकार के होते हैं

कोशिका से अभिप्राय (CONCEPT OF CELL)

cells (कोशिका) kya hai कोशिका लेटिन शब्द सेलुला (cellula) से लिया गया है, इसका अर्थ है, छोटी कोष्ठक (small compartment)द्वारा निर्मित। कोशिका सभी जीवों की संरचनात्मक एवं जीवन के समस्त जैविक कार्यों की आधारभूत इकाई “Basic structural unit of life” है। इसमें जीवन से सम्बन्धित सभी जैविक कार्य (क्रियाएँ), उदाहरण- पाचन, श्वसन, जनन, गैसीय-विनिमय आदि होते हैं।

cells (कोशिका) kya hai कोशिका विभेदी या अवकलीय पारगम्य झिल्ली (differentially permeablemembrane) द्वारा घिरी रहती है।””कोशिका विभिन्न सजीवों का न्यूनतम (छोटे से छोटा) संगठित रूप है, जिसमें जीवन से सम्बन्धित सभीक्रियाएँ होती हैं।” स्व:निर्मित सूक्ष्मदर्शी से (रॉबर्ट हुक (Robert Hooke, 1665) ने बोतल की कॉर्क की महीन काटों (sections) का अध्ययन करने के पश्चात यह जानकारी दी कि कॉर्क की यह संरचना मधुमक्खी के छत्ते सदृश कोष्ठकों की निर्मित एक ही आकार की (समान आकृति) चारों ओर से घिरी हुई विभिन्न आकृतियाँ हैं,

cells (कोशिका) kya hai जिन्हें उन्होंने कोशिका (cell) नाम दिया। इन तथ्यों को उन्होंने अपनी पुस्तक माइक्रोग्राफिया (micrographia) में प्रकाशित किया। रॉबर्ट हुक ने जिन कॉर्क की मृत कोशिकाओं को देखा, वे केवल कोशिकाभित्ति (cell wall) ही थी। लूइवेनहॉक (Leeuwenhoek, 1683)प्रोटोजोआ, ने अपने द्वारा निर्मित सूक्ष्मदर्शी से स्वतंत्र एवं जीवित कोशिकाओं का अध्ययन किया।

cells (कोशिका) kya hai

cells (कोशिका) kya hai इनमें प्रमुख रूपजीवाणु, शुक्राणु व लाल रूधिर कणिकाओं को देखा। कोशिका में जीवित पदार्थ की उपस्थिति की जानकारी एल्फॉन्सो कॉर्टी (Alfonso Corti, 1772) ने दी। आर्किड की जड़ों (roots of Orchid) की कोशिकाओं में कुछ गोल आकृतियाँ (संरचनाओं) को देखकर रॉबर्ट ब्राउन (Robert Brown, 1831) ने न्यूक्लियस (nucleus) नाम दिया। हुक के पश्चात नेहमिआहग्रेयू (Nehemiah Grew) एवं मैलपीघी (Malpighi) ने कोशिकाओं का अध्ययन कर उनकी शारीरिकी द्वारा इन कोशिकाओं में कोशा-भित्ति एवं गुहिकाओं को देखा।

ह्यूगो वान माल (Hugovon Mohl, 1838) एवं जोहनस परकिंजे (Johannes Purkinje, 1840) ने कोशिका मेंउपस्थित जीवित जेली-सदृश पदार्थ को जीवद्रव्य (protoplasm; protos first; plasma form) नाम दिया। जन्तुओं एवं पादपों के ऊतकों का विस्तृत अध्ययन करने के पश्चात् रूडोल्फ विरचोव (Rudolf Virchow, 1858) ने कोशिका वाद (cell theory) का विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया।

उनके मतानुसार-“सभी जीवित कोशिकाओं में कोशिका विभाजन की प्रक्रिया होती है और सभी नई कोशिकायें पूर्ववर्ती कोशिकाओं से निर्मित होती है”- ओमनिस सेलुला-इ-सेलुला (Omnis cellula-e-cellula)” (The new cell comes frompre-existing cell during cell division) सामान्यतः इस मत को कोशिका की वंश परम्परा का नियम (law of cell lineage) कहा जाता है।

सेल्स 2 प्रकार के होते हैं यूकैरियोटिक कोशिका (Eukaryotic cell) और प्रोकैरियोटिक कोशिका अन्तर

cells (कोशिका) kya hai  | कोशिका क्या है | सेल्स 2 प्रकार के होते हैं

यूकैरियोटिक कोशिका (Eukaryotic cell)

  1. ये कोशिकाएँ दो कला तंत्र (two membrane
  2. system) युक्त होती है।
  3. मीसोसोम्स सदृश संरचना का अभाव होता है।
  4. कोशिका झिल्ली द्विगुणित पदार्थों को अलग करने में सहायक नहीं होती है।
  5. कोशिकाभित्ति सेलूलोज (cellulosce) की निर्मित होतीहै, इसमें पेप्टाइडोग्लाइकेन का अभाव होता है।
  6. केन्द्रक विशिष्ट स्तर का, केन्द्रककला, क्रोमेटिन, केन्द्रकद्रव्य, केन्द्रक मैट्रिक्स, केन्द्रिका युक्त होता है।
  7. कोशिकाद्रव्य या जीवद्रव्य भ्रमणशील होता है।
  8. जीवद्रव्य के बाह्य एवं आन्तरिक भ्रमण होते हैं। इनमें cytoplasmic streaming होती है। कोशिकाद्रव्य में अनेक कोशिकांग, उदाहरण- गॉल्जीकाय, माइटोकॉण्ड्रिया, अन्तःप्रद्रव्यी जालिका उपस्थित होते हैं। जीवद्रव्य एवं माइटोकॉण्ड्रिया में श्वसन क्रिया होती है।
  9. राइबोसोम 80S प्रकार के होते हैं। प्लाज्मिड का प्रायः अभाव होता है।
  10. डी०एन०ए० केन्द्रक, माइटोकॉण्ड्रिया एवं लवकों में उपस्थित होते हैं।
  11. सामान्यत: रैखिक (linear) डी०एन०ए० होता है, किन्तु वृत्ताकार माइटोकॉण्ड्रिया व लवक होता है। केन्द्रक झिल्ली होती है।
  12. न्यूक्लिओप्लाज्म कोशिकाद्रव्य में न्यूक्लियर मेम्ब्रेन द्वारा पृथक होता है।
  13. डी०एन०ए० हिस्टोन प्रोटीन से सम्बद्ध रहता है।
  14. केन्द्रक में दो या अधिक गुणसूत्र का क्रोमेटिन पदार्थ
  15. होता है। हरितलवक में प्रकाश-संश्लेषण की क्रिया होती है।
प्रोकैरियोटिक कोशिका
  1. प्रोकैरियोटिक कोशिका का अमाप 0.1-5.0 pm तक होता है।
  2. ये कोशिका एक कला तंत्र (one membrane system) युक्त होती है। कोशिकाकला के अन्तर्वलनों से मीसोसोम्स बनते हैं।
  3. कोशिका झिल्ली द्विगुणित उत्पादों को अलग करने में सहायक होती है। कोशिकाभित्ति की उपस्थिति आवश्यक नीं होती। यदि कोशिकाभित्ति होती है तो म्यूकोपेप्टाइड अथवा पेप्टाइडोग्लाइकेन की निर्मित होती है।
  4. प्रारम्भिक स्तर का केन्द्रक (nucleus) न्यूक्लिओटाइड या जीनोफोर होता है। जीवद्रव्य में भ्रमण का अभाव होता है।
  5. बाह्य जीवद्रव्यभ्रमण (exocytosis) एवं आन्तरिक जीवद्रव्य में भ्रमण का अभाव होता है। कोशिकाद्रव्य में विभिन्न कोशिकीय (cell organelles) का अभाव होता है।
  6. जीवद्रव्य एवं मीसोसोम्स में श्वसन क्रिया होती है। राइबोसोम्स (ribosomes) 70 S प्रकार के होते हैं। कुछ कोशिकाओं में प्लाज्मिड उपस्थित होते हैं।
  7. डी०एन०ए० या न्यूक्लिओटाइड कोशिकाद्रव्य में मुक्त रूप से उपस्थित होते हैं।
  8. सामान्यतः वृत्ताकार (circular) डी०एन०ए० (DNA) पाया जाता है।
  9. केन्द्रकझिल्ली (न्यूक्लियर मेम्ब्रेन) का अभाव होता है। न्यूक्लिओप्लाज्म कोशिकाद्रव्य में अलग भिन्नित नहीं होता है।
  10. डी०एन०ए० हिस्टोन प्रोटीन से सम्बद्ध नहीं होता है। एकल गुणसूत्र के बराबर न्यूक्लिओइड (nucleoid)
  11. होता है।
  12. हरितलवक का अभाव, आन्तरिक झिल्लियाँ, प्रकाश-संश्लेषी तंत्र में उपस्थित होती हैं।
कोशिका की सरंचना

कोशिका की संरचना (STRUCTURE OF CELL)पादप कोशिका (यूकैरियोटिक) का विस्तृत अध्ययन कोशिका की संरचना, झिल्लीयुक्त संरचनाएँ, कोशिकांगों(organellies), कोशिकाद्रव्य (cytoplasm), केन्द्रक, अन्त:प्रद्रव्यी जालिका (endoplasmic reticulum), माइटोकॉण्ड्रिया (mitochondria) गॉल्जी सम्मिश्र (golgi complex), लयनकाय (lysosome), रिक्तिका (vacuole), सूक्ष्मकाय (microbodies), राइबोसोम (ribosome) आदि द्वारा करते हैं।सभी प्रकार की कोशिकाओं में कुछ विशिष्ट लक्षण सामान्य रूप से निम्नवत् होते हैं-

1. जीवद्रव्य कला की मूल संरचना एवं कार्य एक ही तरह के अर्थात् समान होते हैं।

2. समस्त प्रकार की कोशिकाओं में न्यूक्लिक अम्ल (nucleic acid) आनुवंशिक पदार्थ (hereditary material)होता है। इसका स्थानान्तरण पुत्री/संतति कोशिकाओं में कोशिका विभाजन के समय हो जाता है।

3. सभी कोशिकाओं में प्रोटीन-संश्लेषण की प्रक्रिया समान होती है।

4. सभी कोशिकाओं में ऑक्सी-श्वसन की प्रक्रिया समान रूप से होती है।

2 thoughts on “cells (कोशिका) kya hai | कोशिका क्या है | सेल्स 2 प्रकार के होते हैं”

  1. Pingback: प्रजनन - जीव विज्ञान, प्रजनन के प्रकार |Reproduction - Free Notes 2022 - Ak Study hub

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *